फेंके जा, फेंके जा – ये तीन सौ टॉफी भी गुजरात मॉडल की देन हैं!

चला मुरारी हीरो बनने. मगर इत्ती जल्दी काहे की – टॉफी और ट्रॉफी का फ़र्क तो जान ले पहले. भक्तों और भक्तिनों से ही पूछ लिया होता तो वो भी बता देते. मगर इत्ता भी सब्र किसे जब सामने कुर्सी दिखाई दे रही हो. वो भी परधान मंत्री की. और जब सारे मुनादी करने वाले, बैंड बाजे वाले चुगलिया, फुगलिया, शर्मा, गुप्ता, कंवल, फंवल में बादशाह के नए लिबास की तारीफ़ों के पुल बांधने की होड़ लगी हो, तो कौन है सुसरा जो हमारे सामने बोल सके है? अब मुरारी बोलता है और बैंड बाजे वाले दाद देते हैं. लीजिये समाअत  फरमाइए उन्हीं की ज़ुबानी और आनंद लीजिये:

2 thoughts on “फेंके जा, फेंके जा – ये तीन सौ टॉफी भी गुजरात मॉडल की देन हैं!”

  1. Jai ho ‘Fenku’ Modi ji ki.Yaaro, yadi yeh pradhan mantri ban gaye to ek baat to zaroor hogi. Yeh jahaan, jahaan jayenge vahan, vahan ke neat aur log in pe aur Bharat pe zaroor hansenge. Bhai, circus men ‘Joker’ ka kaam hansaana his to haota hai.

  2. पाँचों उँगलियाँ घीं में
    ””””””””””””’
    मीडियाका स्वर्ण काल
    बिकाऊ रीढ़
    पुष्य नक्षत्र
    धनतेरस
    बरस रहा सोना
    खबरों का अकाल

    ノ∆ㄅ๒ⅰЯ ςサ∆ῳレ∆
    ///////////////////////

We look forward to your comments. Comments are subject to moderation as per our comments policy. They may take some time to appear.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s