Tag Archives: उत्तर प्रदेश चुनाव

मायावती जी के मुख्यमंत्रित्व काल का एक संक्षिप्त विवरण: राम कुमार

This guest post by RAM KUMAR is a review of five years of Mayawati’s administration in Uttar Pradesh. An English translation has appeared in Fountain Ink magazine, here.

मुख्यमंत्री मायावती जी को 2007 में मिला स्पष्ट जनादेश  महज मुलायम सिंह यादव के खिलाफ एन्टी-इनकमवंसी फैक्टर ही नहीं था, बलिक अराजकता और गुंडागर्दी के खिलाफ भी जनादेश  था। सरकार का खुले रूप से एन्टी-दलित चरित्र और प्रदेश  के अन्दर सरकार  के एन्टी ब्राहम्ण टोन के चलते प्रदेश  में मुलायम सिंह की सरकार के खिलाफ दलित अति पिछड़े हो गये थे। मुलायम सिंह के  कल्याण सिंह प्रेम की वजह से माइनारिटी (अल्पसंख्यक) भी  मुलायम से नाराज हो  गए। बहन जी ने सर्वजन समाज का नारा देकर   विक्षुब्द तबकों को समेटा। सभी को समेटने में रणनीति के तहत अपना नारा बदल “हाथी नहीं गणेष है ब्रम्हा, विष्णु, महेष है” का नारा लगाया। सर्वजन  फार्मूला और मुलायम के खिलाफ गुस्सा बहन जी को पूर्ण बहुमत से सत्ता में लेकर के आया।

बहन जी एक  सशक्त शासनकर्ता के रूप में जानी जाती थीं। इस बार भी बहन जी सत्ता में आयींऔर  सत्ता में आते ही तुरन्त उन्होनें  घोषणा की कि अराजकता और गुडागर्दी नहीं चलेगी, कानून का राज्य चलेगा। इसको  सिद्ध करने के लिये उन्होंने सबसे पहले जो राजनेता अपने साथ बहुत सारे शस्त्रधारियों को लेकर चलते थे,  उन पर प्रतिबंध  लगाया और एलान किया कि  कोई भी नेता सार्वजनिक स्थल पर तीन हथियार से  ज्यादा में दिखे तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। यही नहीं अपनी पार्टी के एम. पी. रमाकान्त यादव जो आजमगढ़ से हैं, एक गरीब मुसिलम के मकान पर जमीन कबजाने के चक्कर में जबरदस्ती बुलडोजर चलवाया इसकी खबर जब बहन जी को लगी उन्होंने रमाकान्त यादव को अपने मुख्यमंत्री आवास पर मिलने के लिये बुलाया और वहीं से उनको गिरफ्तार करवाया। यह संदेश  देने की कोशिशकी  कि सत्ताधारी दल के हों या विपक्षी पाटी के हों, कानून सबके लिये समान है। अपनी ही सरकार के खाधमंत्री और विधायक आनन्द सेन को एक महिला के अपहरण केस  में बर्खास्त कर जेल भिजवाया और अभी तक 26 प्रभावशाली नेता एवं मंत्रियों को पार्टी के बाहर का रास्ता दिखा चुकी हैं। पिछली सरकार में हुयी 17,868 पुलिस जवानों की भर्ती में हुयी धांधली के चलते भर्ती  प्रक्रिया को निरस्त किया और 25 आई .पी.एस. अधिकारियों को भी सस्पेन्ड किया।

Continue reading मायावती जी के मुख्यमंत्रित्व काल का एक संक्षिप्त विवरण: राम कुमार