Tag Archives: Tea seller

चायवाला: गौहर रज़ा

Guest post – a poem by GAUHAR RAZA

चायवाला

बहुत फ़र्क़ है यह चायवाला
उन से
जो अपनी ज़िंदगी
दूसरों को चाय पिलाते गुज़ार देते हैं
बहुत फ़र्क़ है यह चायवाला
रामदीन, मैकल या ज्ञानी जी से
जो भूखे पेट रहते हैं दिन भर
और टूटे छप्पर, या पेड़ की जड़ के सहारे
चाय के एक प्याले से किसी के माथे की
थकन मिटाते हैं
फ़ैक्टरी के गेट के बाहर,
उस नौजवान का ग़म दूर करते हैं
जिसे अभी अभी नौकरी से निकाला गया है
या किसी राहगीर को सही रास्ता बताते हैं
बहुत फ़र्क़ है यह चाएवाला
उन से जो
देर गए, रात को अपने घर लौटते हैं
चंद सिक्के समेटे, उन गुंडों की गालियों के साथ,
जो रोज़ ज़बरदस्ती चाए पीते हैं,
और बदले में धमकियाँ देते हैं Continue reading चायवाला: गौहर रज़ा