Tag Archives: Jeet Singh Sanwal

हिन्दुत्व की प्रयोगशाला बनता दिल्ली विश्वविद्यालय: जीत सिंह सनवाल

Guest post by JEET SINGH SANWAL

केन्द्र में भाजपा के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का राजकीय शिक्षा नीतियों से लेकर शिक्षण संस्थाओं के क्रियाकलापों में बढ़ता हस्तक्षेप किसी से छुपा नहीं है। शिक्षा नीति में बदलाव लाने व इस बाबत मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सुझाव व विश लिस्ट सौंपने में संघ ने काफी तत्परता दिखाई है। कई मीडिया रिपोर्टों के अनुसार संघ ने प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से उनके लिए काम करने वाले तमाम लोगों की लिस्ट सरकार को भेजकर शैक्षिक व सांस्कृतिक संगठनों में उनकी नियुक्ति की मांग की। आशा के अनुरूप पिछले दस माह के भाजपा सरकार के कार्यकाल में विभिन्न संगठनों मेें कई सरकारी नियुक्तियां की गयी और संघ विचाराकों को अपेक्षा से अधिक सम्मान देकर ताजपोशी की गयी। नागपुर के एक प्रतिष्ठित संस्थान में डायरेक्टर पद पर नियुक्ति पाने के लिए तो एक व्यक्ति ने अपने संघ से जुड़े होने के प्रमाण प्रस्तुत करते हुए संबंधित मंत्री को नियुक्ति हेतु आवेदन किया। आशा के अनुरूप मंत्रालय ने भी उन्हीं की नियुक्ति की।

शैक्षिक व सांस्कृतिक संगठनों में इस प्रकार के हस्तक्षेप के पीछे संघ की बुनियादी रणनीति है। प्रख्यात मानवाधिकार कार्यकर्ता राम पुनियानी के अनुसार संघ पहले से ही प्रगतिशील शैक्षिक व सांस्कृतिक विमर्श को बदलकर अपना राजनैतिक आधार मजबूत करने में विश्वास रखता है। दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रो0 अपूर्वानन्द के अनुसार संघ की यह रणनीति शिक्षा के अज्ञानीकरण की ओर जाता है। भा.ज.पा. को पूर्ण बहुमत मिलने व संघ के प्रचारक का प्रधानमंत्री बन जाना, उनकी इस रणनीति को आगे बढ़ाने के लिए मुफ़ीद है। विभिन्न शैक्षणिक व सांस्कृतिक संगठनों में पिछले कुछ महीनों से हो रहे इन बदलावों में दिल्ली विश्वविद्यालय का उदाहरण काफी अलग है। संघ दिल्ली विश्वविद्यालय में शोध, शिक्षण के साथ-साथ छात्रों के मोबिलाईजेशन के जरिये, अपने विवादास्पद एजेंडे को धार देने का प्रयास कर रहा है। संघ की विचारधारा व उनके कार्यक्रम पहले से ही विवादों में रहे हैं। उनके उग्र हिन्दुत्व व अल्पसंख्यकों से वैमनस्य किसी से छुपा नहीं है। ऐसे में दिल्ली विश्वविद्यालय में संघ की बढ़ती औपचारिक व अनौपचारिक सक्रियता, विश्वविद्यालय व बौद्विक जगत के लिए चिंता का विषय है।  Continue reading हिन्दुत्व की प्रयोगशाला बनता दिल्ली विश्वविद्यालय: जीत सिंह सनवाल