Tag Archives: Operation Greenhunt

युद्ध के रूपक का जाल

अपने नए बंद के दौरान सी.पी.आई.( माओवादी) ने छत्तीसगढ़ और बंगाल में अर्ध-सैन्य बल के सदस्यों के साथ बस में सफ़र कर रहे साधारण ग्रामीणों की हत्या करने के बाद जो बयान दिया है उससे यह साफ़ है कि अभी शायद इससे भी क्रूरतापूर्ण कार्रवाइयां देखने को मिल सकती हैं. उनके प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने पहले ही छतीसगढ़ के ग्रामीणों को यह बता दिया था कि उन्हें इस युद्ध की विशेष परिस्थिति में क्या करना है और क्या नहीं करना है. मसलन, पुलिस या सैन्य बल के लोगों के साथ किसी भी तरह का कारोबार या सामजिक व्यवहार प्रतिबंधित है, उनके साथ किसी सवारी गाडी में सफ़र नहीं करना है. इसके आगे उनसे यह भी कहा गया है कि उन्हें पुलिस या सैन्य बल की गतिविधियों पर नज़र रखनी है, उनके पास हथियारों का अंदाज़ करना है और इसकी खबर जनता सरकार को देते रहना है. इस दल के प्रवक्ता ने कहा कि साधारण लोगों का मारा जाना अफसोसनाक है लेकिन एक तरह से वे खुद इसके लिए जिम्मेदार थे क्योंकि उन्होंने चेतावनी का उल्लंघन किया था. Continue reading युद्ध के रूपक का जाल

To P Chidambaram: Response from a member of civil society, by AK Agrawal

By ARUN K AGRAWAL

Dear Shri Chidambaram,

This is in response to your repeated taunts on NDTV that the civil society must respond to the wanton killing by the Naxals. It appears that the interview was tailor made for getting the consent of the Cabinet for more firepower and airpower to combat the Maoist. The diabolic support of Arun Jaitly, be it by describing you an injured martyr, was designed to achieve his ambition through the support of the mining barons of the BJP ruled states.

As a member of society I hope I am being civil in disagreeing with you on your hard line approach against the innocent tribal. I also hope you will not find it too shocking for being accused of being largely responsible for the rise and growth of Naxalism, as the following happened on your watch as Finance minister.

Continue reading To P Chidambaram: Response from a member of civil society, by AK Agrawal